ऑफिस पर था भूत का साया, रात में अपने आप कुर्सी को इधर से उधर होता देख छूटे महिला के पसीने

भूत-प्रेत, चुड़ैल, शैतना ये सभी ऐसी चीजें हैं, जिसके बारे में हर कोई बात करने से डरता है। रात के अँधेरे में अगर गलती से भी इनमें से किसी का जिक्र कर दिया तो कई लोगों की डर के मारे बुरी हालत हो जाती है। अक्सर बच्चों को रात के समय भूत-प्रेत की कहानियाँ सुनाई जाती हैं। कई बच्चे बहुत ज्यादा शैतानी करते हैं, इसलिए उन्हें भूतों का डर दिखाया जाता है। बच्चे भूतों से बहुत ज्यादा डरते हैं। केवल बच्चे ही नहीं बड़े-बड़े भी भूत-प्रेतों का नाम आते ही डर जाते हैं। हमारे आस-पास कई ऐसी घटनाएँ होती रहती हैं, जिसके बारे में लोगों का कहना होता है, हो ना हो इसके पीछे भूतों का ही हाथ होगा। इन घटनाओं के पीछे सीधे तौर पर भूतों को ही दोष दे दिया जाता है।

हालांकि इसके पीछे सच्चाई क्या होती है, कोई जाननें की कोशिश नहीं करता है। आइए जानते हैं पूरी बात