गलती से भी मत पीना सिगरेट, वर्ना इस वायरस से जा सकती है आपकी जान

वो लोग जो एचआईवी पॉजिटिव हैं, उनके लिए सिगरेट का धुंआ HIV वायरस से भी अधिक खतरनाक है। एचआईवी वायरस की तुलना में सिगरेट एचआईवी पॉजिटिव लोगों को अधिक नुकसान पहुंचाता है और उनमें जीने की क्षमता को कम करता है। खतरनाक सिगरेट के धुंए पर यह शोध हाल ही में “जर्नल ऑफ इन्फेक्शियस डीज़िज” में प्रकाशित हुई है। इस शोध की सदस्य कृष्णा पी. रेड्डी ( मैसाचुसेट्स जनरल अस्पताल और हार्वर्ड मेडिकल स्कूल की एमडी हैं।) कहती हैं कि, एक इंसान जो एचआईवी से पीड़ित है और एचआईवी मेडीसिन लेने के साथ ही स्मोक भी करता है, वह एचआईवी के बजाय स्मोकिंग संबंधी बीमारी से पहले मरता है। अध्ययन से पता चलता है कि धूम्रपान बंद कर देने से एचआईवी पॉजिटिव इंसान अपने जीने की क्षमता में काफी हद तक सुधार कर सकते हैं।

इसी को विस्तार से बताते हुए कृष्णा कहती हैं कि, “अब एचआईवी-स्पेसफिक मेडीसिन्स भी वायरस से लड़ने में अधिक कारगर हैं।